Follow Us
  • SIGN UP
  • tumbhi microsites
tumbhi microsites

writingAadhi cup chai

" आधी कप चाय "

कप में
जो आधी चाय , छूट जाती थी
अब पूरी पी जाता हूँ

और
तुमने भी तो , अब शायद
चाय पीना सीख  लिया है ,

माँ ने कहा -
तुम आई थी

और मेरी नजरे तो बस
उस चाय के कप में , कुछ ढूंढती रही...

करवे लम्हो को आखिर
तुमने भी पीना सीख  ही लिया l

✒ मुकेश

-----सिल्लीगुड़ी-----

Ishq ke Karwe lamhe.....

Report Abuse

Please login to report abuse.
Click on the Report Abuse button if you find this item offensive or humiliating. The item will be deleted/blocked once approved by the admin.

Writing by

Mukesh Prasad

Likes

0

Views

6

Comments

0

View More from me

You May Also Like

GO