Follow Us
  • SIGN UP
  • tumbhi microsites
tumbhi microsites

writingTumhare Janmdin Par

                                                             " तुम्हारे जन्मदिन पर "

याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

तुम्हारा वो पढ़ना , मेरा वो पढ़ाना
मेरा पलकें उठाना, तुम्हारा पलकें झुकाना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

याद है तुमको 'प्रोजेक्ट ' का जब काम चल रहा था
आँखों में ख़ास सपना आम पल रहा था
जो मुझको बुलाकर तुमने ये पूछा था
"प्रोजेक्ट देख लीजिये " तुमने ये कहा था
बहुत याद आता प्रोजेक्ट करना बताना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

याद है तुमको ,जब तुम पढ़ाने आयी थीं
लगा यूँ ज़िन्दगी मेरी वापिस आयी थी
साँसें चलने लगी थीं , दिल धड़कने लगा था
प्यार का एक अंकुर फिर मन में फूटा था
पर वो था प्यार सच्चा , तुमने न जाना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

कितनी कोशिशें की थीं मैंने तुमसे बात करने की
न फ़ोन , न वॉट्स ऐप ,न मेल की इजाज़त थी
फिर भी आँखों से तुम्हें  मैंने पैगाम दिया था 
तुम्हें वो मिला था , पर तुमने स्वीकार न किया था
या फिर शायद तुमने मानकर भी न माना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

वो भी दिन कैसे भूलूँ जब तुमने ये बताया
"जा रही हूँ परदेस , पासपोर्ट है बनवाया "
क्या सितम मुझपे ढाया था तुमने न जाना
न ज़मीं का पता था , न आसमाँ का ठिकाना
फिर भी रोका खुद को ,क्योंकि प्यार का सच था जाना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

चाहता था मम्मी से तुम्हें मिलाना
पर तुमने समझ के भी न जाना
मेरे पास पैसा नहीं ,गाड़ी नहीं , बॉडी नहीं
पर तुम्हारे लिए समर्पण और सच्चा प्यार ही सही
झूठी चीज़ों से सच्ची चीज़ों का मोल तुम्हें चुकाना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

रहो तुम कहीं भी , हमेशा खुश रहना
न भूलना मुझे , न मुझे याद करना
पर ये ध्यान रखना सच्चा प्यार एक बार
आता है जीवन में , आत्मा और मन के द्वार
तुम्हारे जन्मदिन पर ये सन्देश , तुम तक पहुँचाना
याद आता है तुम्हारे संग गुज़रा ज़माना

                                            - MOHIT KHARE

These lines written by me are dedicated to that person who is simply my life. It ca't be explained in more words as 'life' means the existence and without her I am nothing. Its a gift from me on her Birthday.

Report Abuse

Please login to report abuse.
Click on the Report Abuse button if you find this item offensive or humiliating. The item will be deleted/blocked once approved by the admin.

Writing by

mohit khare

Likes

0

Views

1

Comments

0

View More from me

You May Also Like

GO